विधायिका जी, जरा नजरें इधर भी इनायत हो

गाजीपुर।योगी सरकार लाख प्रयास कर ले बावजूद इसके प्रदेश की सड़के गड्ढा मुक्त नहीं हो पा रही है।गोरखपुर से बनारस को जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग 29 पर गाजीपुर,महराजगंज बाजार की सड़क तो कुछ यही हालेबया कर रही हैं।सड़क में गढ़े है कि गढ़े में सड़क पता लगाना मुश्किल है।सड़क से हिचकोले खाते हुए जब वाहन निकलते है तो नजारा एक बार देखने लायक होता है।हैरानी तो तब होती है जब सत्ता पक्ष की सदर से बीजेपी विधायक डॉ संगीत बलवंत का आवास भी सड़क से सटे है,जाहिर सी बात है विधायक जी का काफिला भी रोजाना खराब हो चुकी सड़क से ही निकलता है वाबजूद इसके विधायक जी की सड़क के प्रति इस तरीके की बेरुखी स्थानीय लोगो के गुस्सा का कारण बन रही है।
स्थानीय लोगो का कहना है कि हर साल बरसात में सड़क की यही दशा हो जाती है,बार-बार अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों से शिकायत के बावजूद सड़क की मरम्मत नही हो पा रही है।आलम यह है कि कीचड़युक्त सड़क से निकलने वाले दो पहिया,चार पहिया वाहनों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।दो पहिया वाहन तो गिरकर घायल भी हो जा रहे है।हालांकि गोरखपुर से बनारस तक बन रहे 2500 करोड़ की लागत से फोर लेन सड़क निर्माण जो कि गाजीपुर शहर से बाहर बाहर ही निकल गयी है,सड़क बनने से सड़क पर भार जरूर हो गया है।
मौजूदा समय मे सड़क की खराब हो चुकी दशा देख हर कोई हैरान परेशान है।

Back to top button