लखनऊ: 17 अप्रैल को वाराणसी में होने वाली जी-20 की बैठको के लिए  बेहतर व्यवस्था, साफ सफाई एवम् हरियाली बढ़ाने के दिए निर्देश

डे नाईट न्यूज़ प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने आयुष और नगर विकास विभाग के अधिकारियों के साथ नगरों की साफ-सफाई, सुंदरीकरण और बेहतर व्यवस्थापन के साथ ही आयुष चिकित्सा व योग को जन जन तक पहुंचाने के लिए 01 मार्च,2023 से चिन्हित नगरीय पार्कों में शुरू हो रहे योग दिवस एवम् आयुष चिकित्सा कार्यक्रम के लिए आवश्यक तैयारियों के संबंध में बैठक की।

नगर विकास मंत्री ए0के0 शर्मा ने रविवार को सुबह आठ बजे जल निगम के फील्ड हॉस्टल संगमइमें नगर विकास, सूडा एवं आयुष विभाग के 1000 से अधिक अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के संकल्प को साकार करने के लिए स्वांत सुखाय की अवधारणा के तहत लोगो को स्वच्छ वातावरण और स्वस्थ्य जीवन प्रदान करने हेतु आयुष चिकित्सा और योग को जन-जन तक पहुंचाने के लिए 01 मार्च से प्रदेश के सभी निकायो के चिन्हित पार्कों में आयुष चिकित्सा एवं योग दिवस कार्यक्रम प्रतिदिन आयोजित किया जायेगा।

यह कार्यक्रम नगर विकास, आयुष विभाग और आवास विकास के सहयोग से आयोजित किया जाएगा। सभी जनपदों में जिलाधिकारी की अध्यक्षता बनाई गई कमेटी इस कार्यक्रम की नियमित मॉनीटरिंग भी करेगी। यह कार्यक्रम शहरों के चिंहित पार्कों में  प्रतिदिन 45-45 मिनट के 02 चरणों में ग्रीष्म ऋतु में प्रातः 6.15 से 7.00 बजे एवं 7.15 से 8.00 बजे के बीच तथा शीतकाल में 7.15 से 8.00 बजे एवम् 8.15 से 9रू00 बजे तक आयोजित किये जाएगा।

ए0के0 शर्मा ने बताया कि योग दिवस कार्यक्रम आयोजित कराने के लिए प्रत्येक नगर निगम में ऐसे 03 पार्क, नगरपालिका परिषदों में 02 पार्क तथा नगर पंचायतों में 01 पार्क चिन्हित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं। जनभागीदारी बढ़ाने के लिए इसका व्यापक प्रचार-प्रसार कराने को भी कहा गया। योग दिवस कार्यक्रम के दौरान ऐसे सभी पार्कों में आयुष, यूनानी और होम्योपैथी के चिकित्सकों की टीम भी लोगों का स्वास्थ्य चेकअप करने के पश्चात दवा देने के लिए उपलब्ध रहेगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि आपस में समन्वय बनाकर ऐसे पार्कों में तैयारियों को अंतिम रूप दे।

पार्कों की साफ-सफाई, स्वच्छ शौचालय, स्वच्छ पानी की व्यवस्था हो। म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट भी लगाये जाए। योगा के लिए चटाई की व्यवस्था हो, चिकित्सकों के बैठने और दवाईयों के लिए कुर्सी मेज की व्यवस्था आदि पर ध्यान देंगे। उन्होंने बताया कि आयुष एवं नगर विकास विभाग का इस कार्यक्रम में उत्तरदायित्व निर्धारित करने के लिए 27 फरवरी को इस संबंध में दोनों विभागों के बीच एमओयू भी किया जाएगा। नगर विकास मंत्री ने 17 अप्रैल को वाराणसी में होने वाली जी-20 की  बैठको की तैयारियों का भी जायजा लिया। उन्होंने नगर आयुक्त वाराणसी को निर्देश दिए कि शहर की हरियाली और खूबसूरती को बढ़ाएं।

वाराणसी में वैश्विक स्तर का व्यवस्थापन करें। इसके लिए अभी से कमर कस ले। कहीं पर कोई कमी न रह जाए। चिन्हित मार्गों पर बेहतर प्रबंधन हो। स्वच्छता सफाई का विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि लखनऊ और आगरा में हुई जी-20 की बैठको में आए प्रतिनिधियों ने वहां की साफ-सफाई, सुंदरता और व्यवस्थापन की बहुत तारीफ की है। ऐसा ही प्रयास वाराणसी के लिए भी किया जाए। उन्होंने सभी नगर आयुक्तों को भी निर्देश दिए हैं कि शहरों को ग्लोबल सिटीज बनाने के अभियान को युद्ध स्तर पर जारी रखें। योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए समयबद्ध रूप से तथा लक्ष्य के अनुरूप कार्य करें।

इस वित्तीय वर्ष में जारी बजट को समय से खर्च करें। उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि जिन योजनाओं में बजट खर्च नहीं हो पाएगा, आने वाले वित्तीय वर्ष में उन योजनाओं के लिए पैसा नहीं दिया जाएगा तथा कार्यों में लापरवाही व शिथिलता के लिए संबंधित अधिकारियो के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी। उन्होंने निदेशक सूडा तथा निदेशक नगरीय निकाय को निर्देश दिए कि अपने विभागों के कार्यक्रमों की नियमित मॉनिटरिंग करें और योजनाआंे को जमीन पर उतारने के लिए कार्ययोजना को और व्यवस्थित ढंग से संचालित करे। डीसीसीसी और टोल फ्री 1533 की नियमित मॉनिटरिंग करने तथा इसे और व्यवस्थित ढंग से संचालित करने को कहा। सभी निकाय स्ट्रीट लाइट के रखरखाव पर भी विशेष ध्यान देंगे। कहीं पर भी कूड़ा न जलाए जाए, इसका ख्याल रखें।

साफ किए गए कूड़ा स्थलों पर बेंडिंग जोन भी बनाएं, जिससे कि शाम को लोग जाकर अपना वक्त बिता सकें। मलिन बस्तियों की साफ सफाई व विकास कार्यों में और गति लाई जाए। उन्होंने सभी निकायों डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन, कूड़ा निस्तारण, कूड़ा स्थलों की सफाई तथा सुंदरीकरण पर विशेष ध्यान देने और नगरों की सफाई में मशीनों का अधिक से अधिक प्रयोग करने को कहा। सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर ध्यान देने तथा एमआरएफ को संचालित करने को भी कहा। कहा कि आने वाले होली के त्यौहार में लोगों को स्वच्छ एवं साफ-सुथरे नगर दिखे, इसके लिए अभी से प्रयास करें। उन्होंने नगर आयुक्त लखनऊ इंद्रजीत सिंह को निर्देश दिए कि लखनऊ के 1090 चैराहे में बनाए गए सेल्फी प्वाइंट श्आई लव यू लखनऊश् में से आई लव पिछले 10 दिनों से गायब है, इसे जितना जल्दी हो सकें ठीक कराएं।

इसी प्रकार आगरा शहर से भी कमियों की शिकायतें आ रही हैं। इस प्रकार आगरा एवं लखनऊ की शहरी व्यवस्था में आई कमियों को जल्द से जल्द ठीक कराएं। उन्होंने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 प्रदेश में 01 मार्च से शुरू हो रहा है इसके लिए सभी निकाय पूर्ण रुप से तैयार रहें। बैठक में अपर मुख्य सचिव आयुष आराधना शुक्ला,निदेशक सूडा डॉ0 अनिल कुमार पाठक, निदेशक स्थानीय निकाय नेहा शर्मा, विशेष सचिव आयुष हरिकेश चैरसिया, अपर निदेशक डा0 असलम अंसारी, उप निदेशक डा0 सुनील यादव उपस्थित थे तथा सभी निकायों के नगर आयुक्त, अधिशाषी अधिकारी व आयुष विभाग के अधिकारी वर्चुअल जुडे़ थे।

Back to top button