दुनिया में सबसे ज्यादा कर्जदार बना चीन , भारत और पाकिस्तान का भी बुरा हाल,

DAY NIGHT NEWS LUCKNOW

कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाएं बुरे दौर से गुजर रही हैं। इसकी वजह से एक ओर कमाई में भारी गिरावट आई है, वहीं दूसरी ओर हेल्थ इंफ्रा को मजबूत बनाने में खर्च तेजी से बढ़ा है। इस वजह से दुनिया के देशों की सरकारों पर बाहरी कर्ज बढ़ गया है।
इस मामले में भारत और पड़ोसी देशों की तुलना की जाए तो चीन सबसे अधिक कर्जदार है। जबकि बांग्लादेश के ऊपर सबसे कम उधारी है। पाकिस्तान के ऊपर कर्ज हाल के समय में विकराल रूप ले चुका है।
स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के आंकड़ों के अनुसार, मौजूदा इमरान खान सरकार के कार्यकाल में 20.7 ट्रिलियन पाकिस्तानी रुपये का नया कर्ज लिया गया है। इससे पाकिस्तान का कुल बाहरी कर्ज बढ़कर पहली बार 50.5 ट्रिलियन पाकिस्तानी रुपये के स्तर को पार कर गया है। डॉलर में यह बकाया करीब 283 अरब डॉलर का है।
यूनाइटेड नेशंस के वर्ल्डोमीटर के आंकड़ों के अनुसार, पाकिस्तान की कुल जनसंख्या अभी 227,141,523 है। इस तरह पाकिस्तान के हर नागरिक के ऊपर करीब 1230.50 डॉलर की उधारी है।
अगर भारत की बात की जाए तो कुल आबादी का ताजा आंकड़ा 1,399,791,068 पर है। मार्च 2021 में समाप्त हुए फाइनेंशियल ईयर के बाद भारत के ऊपर कुल बाहरी कर्ज 570 अरब डॉलर का है। कोरोना के साये में गुजरे एक फाइनेंशियल ईयर (FY21) में यह कर्ज 11.6 अरब डॉलर बढ़ा है। इस तरह हर भारतीय नागरिक के हिस्से में 407.14 डॉलर का कर्ज है।
जीडीपी (GDP) के आकार के हिसाब से दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था चीन की हालत कर्ज के मामले में बेहद खराब है। चीन के ऊपर कुल बाहरी कर्ज 13,009.03 अरब डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर है। पिछले कुछ दशक में चीन ने आर्थिक रूप से जबरदस्त तरक्की की है, लेकिन इसके साथ ही बाहरी कर्ज भी बेहिसाब तरीके से बढ़ा है। सरकार के प्रयासों के बाद भी बाहरी कर्ज नियंत्रित होने का नाम नहीं ले रहा है। वर्ल्डोमीटर के हिसाब से चीन अभी 1,447,448,228 लोगों की आबादी के साथ दुनिया का सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है। इस तरह चीन के प्रत्येक नागरिक के ऊपर 8971.74 डॉलर की देनदारी है। प्रति व्यक्ति कर्ज के मामले में भी बांग्लादेश की स्थिति अपने पड़ोसियों से बेहतर है। बांग्लादेश की जनसंख्या अभी 166,303,498 है, जबकि कुल बाहरी कर्ज 45 अरब डॉलर है। कुल कर्ज और आबादी को देखें तो बांग्लादेश के हर नागरिक के ऊपर महज 264.70 डॉलर का औसत कर्ज बनता है। यह चीन और पाकिस्तान की तुलना में काफी कम है। यहां तक कि भारत की तुलना में भी यह लगभग आधा है।

Back to top button