केंद्र का पंजाब को अलर्ट ,धर्मस्थलों की सुरक्षा तुरंत बढ़ाएं, सभी लोगो को भड़काकर राज्य का माहौल बिगाड़ने की साजिश हो रही,

DAY NIGHT NEWS LUCKNOW

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले बेअदबी की घटनाओं पर केंद्र ने पंजाब सरकार को अलर्ट जारी किया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पंजाब के सभी गुरुद्वारों, डेरों, मंदिरों के अलावा सभी धार्मिक स्थानों की सुरक्षा बढ़ाने को कहा है। गृह मंत्रालय ने कहा है कि देश विरोधी तत्व पंजाब में धार्मिक भावनाएं भड़काने की कोशिश कर सकते हैं, केंद्र को आशंका है कि धार्मिक स्थलों का इस्तेमाल कर पंजाब में माहौल बिगाड़ा जा सकता है। बेअदबी जैसी घटनाओं से पंजाब का धार्मिक सद्भाव बिगाड़ा जा सकता है। केंद्र के इनपुट के बाद राज्य सरकार भी चौकन्नी हो गई है। जिसके बाद सभी धार्मिक स्थलों में CCTV कैमरे लगाने और सुरक्षा कर्मियों की तैनाती के आदेश दे दिए गए हैं।
पंजाब के ADGP लॉ एंड ऑर्डर ने सभी पुलिस कमिश्नरों और SSP को धर्मस्थलों की सुरक्षा पुख्ता करने का प्लान भेज दिया है। इसमें कहा गया है कि बेअदबी और उसके बाद पैदा हुए माहौल को देखते हुए जिलों के पुलिस प्रमुख खुद सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी करें। सभी धार्मिक स्थलों में CCTV कैमरे लगाने के साथ सुरक्षा कड़ी की जाए। कहीं से गड़बड़ी की सूचना मिलने पर तुरंत सख्त कदम उठाएं।

दी गई हिदायतें : धार्मिक स्थलों के मैनेजमेंट और अफसरों में तालमेल हो: गजेटेड अफसर या SHO अपने जिले और शहरों के धार्मिक स्थलों में जाएं और मैनेजमेंट को अपना फोन नंबर दें और उनका नंबर भी लेकर रखें। ताकि जरूरत के वक्त उनका आपस में बेहतर तालमेल रहे।
धर्मस्थलों में CCTV कैमरे लगें, लाइटिंग भी की जाए: सभी धार्मिक स्थलों पर CCTV कैमरे लगाए जाएं। खास तौर पर सभी गुरुद्वारा साहिब में हर हाल में CCTV सर्विलांस सिस्टम हो। सभी CCTV कैमरे चालू हालत में हों। वहां रोशनी का भी पुख्ता इंतजाम करें।
एंट्री और गुरुग्रंथ साहिब के स्थान की रिकॉर्डिंग हो: CCTV इस तरह से लगाए जाएं कि वह सभी एंट्री गेट से आने-जाने वालों की हर मूवमेंट को रिकॉर्ड कर सकें। इसके अलावा जहां पर पवित्र श्री गुरु ग्रंथ साहिब का प्रकाश हो, वह जगह भी CCTV की निगरानी में हो। इन कैमरों को गुरुद्वारा साहिब के मैनेजर नियमित तौर पर चेक करें। ये कैमरे लगातार चलने चाहिए।
रात के वक्त हो पूरी रोशनी: CCTV के DVR में रिकॉर्डिंग की पर्याप्त क्षमता होनी चाहिए। इसे ऐसी जगह पर लगाना चाहिए जहां कोई आसानी से देख न सके, ताकि कोई शरारती तत्व इसे नुकसान न पहुंचा सके या फिर अपने साथ न ले जा सके। धार्मिक स्थलों के भीतर पूरी तरह रोशनी हो। खासकर, गुरुद्वारा साहिब में रात के वक्त लाइट का पूरा इंतजाम होना चाहिए।
गुरुद्वारों में गार्ड की तैनाती की जाए: सभी गुरुद्वारा साहिब में सुरक्षाकर्मी या गार्ड तैनात हों। जो पूरे परिसर की सुरक्षा करें। CCTV कैमरों के लिए बिजली का वैकल्पिक इंतजाम हो, ताकि अगर लाइट चली भी जाती है तो कैमरे चलते रहें।


पुलिस कमिश्नर और SSP भी करें चेकिंग: पुलिस कमिश्नर और SSP नियमित तौर पर इनके काम को चेक करते रहें। कम से कम 30 दिन तक कैमरों की रिकॉर्डिंग रखी जाए। अगर कैमरों में कोई खराबी आती है या वह काम नहीं कर रहे, तो गुरुद्वारा साहिब की मैनेजमेंट तुरंत उसे ठीक करवाए। जब तक कैमरे ठीक होते हैं, तब तक सुरक्षाकर्मियों के जरिए नजर रखी जाए।
धार्मिक स्थलों के पास पुलिस पेट्रोलिंग बढ़ाई जाए: पुलिस टीमें धार्मिक स्थलों पर जाकर इन कैमरों को चेक करते रहें। इसके अलावा सेवादारों को भी नजर रखने को कहा जाए। धार्मिक स्थलों के बाहर रात के वक्त पेट्रोलिंग बढ़ाई जाए।


पंजाब में जल्द ही विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं। इसको लेकर अब सरकार की चिंता बढ़ी हुई है। अमृतसर में हुई बेअदबी की घटना के तुरंत बाद पुलिस ने हाई अलर्ट कर दिया था। हालांकि बेअदबी की 2 लगातार घटनाओं और उसमें आरोपी की हत्या के बाद पंजाब में माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। जिस वजह से अब पुलिस ऐसी कोई घटना नहीं होने देना चाहती, जिससे चुनाव वाले राज्य में किसी तरह से सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़े।

Back to top button