कृषि कार्य मे महिलाओं की सशक्त भूमिका सदियों से रही है:सूर्य प्रताप शाही

कटघरा।भारत सरकार के जैव प्रोद्योगकी विभाग द्वारा वित्तपोषित एवं कृषि प्रगति एवं ग्रामीण विकास संस्था (फॉर्ड) फाउंडेशन व भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान वाराणसी द्वारा संचालित बायोटेक किसान परियोजना के अंतर्गत गाजीपुर जनपद के मनिहारी विकासखंड अंतर्गत ग्राम बरहट मे क्षेत्र भ्रमण, विशाल किसान मेला एवं कृषि प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। किसान मेले में मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश सरकार के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही सहकारिता मंत्री संगीता बलवंत के अतिरिक्त रानी लक्ष्मी बाई केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय झांसी के कुलाधिपति एवं फॉर्ड फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रो० पंजाब सिंह ,भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, नई दिल्ली के निदेशक डॉ० एके सिंह, आचार्य नरेंद्र देव कृषि विश्वविद्यालय, फैज़ाबाद के कुलपति डॉ० विजेंद्र सिंह, कृषि विज्ञान संस्थान, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, पूर्व संकाय प्रमुख डॉ० आर०एम सिंह, भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान के पूर्व निदेशेक डॉ० जगदीश सिंह,प्रधान वैज्ञानिक डॉ. नीरज सिंह आदि ने संबोधित किया।
किसान गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश सरकार के कृषि एवं कृषि अनुसंधान मंत्री सूर्य प्रताप साही ने कहा उन्होंने फॉर्ड फाउंडेशन द्वारा किसानों के उत्थान की दिशा में संचालित कार्यक्रमो की प्रसंशा की और कहा कृषि कार्य मे महिलाओं की सशक्त भूमिका सदियों से रही है कृषि कार्य का 90 प्रतिशत कार्य महिलाओं के द्वारा किया जाता है।हम सभी के सहयोग से खाद्यान के क्षेत्र में देश आत्मनिर्भर हुआ है। 50 के दशक में रासायनिक खेती के इस्तेमाल से मानव स्वास्थ्य पर कुप्रभाव पड़ा है।आज खाद्यान उत्पादन बढ़ाने पर उत्पादन लागत कम हो रहीं है, केंद्र एवं राज्य सरकार ने फसल उत्पादन बढ़ाने के साथ उत्पादन लागत कम करने का प्रयास किया जा रहा है। यंत्रीकरण को बढ़ावा देने की दिशा में  उत्तर प्रदेश सरकार ने अनुदान पर उपकरण उपलब्ध कराने का कार्य किया है।केंद्र व राज्य सरकार दलहन व तिलहन उत्पादन को बढ़ाने की दिशा में सतत प्रयत्नशील है उत्तर प्रदेश में शत-प्रतिशत गन्ना किसानों का भुगतान कर दिया गया उत्तर प्रदेश में कृषि विज्ञान केंद्रों के लिए अलग से धन उपलब्ध कराया गया है किसानों के लिए कृषि विज्ञान केंद्र उपलब्ध है।उन्होंने कहा की भारी संख्या में कृषि वैज्ञानिक पहली बार एक मंच पर मिले हैं।
उत्तर प्रदेश की सहकारिता मंत्री संगीता बलवंत ने कहा की पूर्वांचल की मिट्टी एवं जलवायु फसलो के उत्पादन के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।
हार्ड फाउंडेशन के अध्यक्ष एवं प्रख्यात कृषि वैज्ञानिक प्रोफेसर पंजाब सिंह ने कहा की किसान वही है जमीन वही है साधन वही है समय बदल गया है मैं उत्तर प्रदेश के कृषक बदलाव के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा मोदी जी का कुशल नीतियों एवं प्रबंधन को सराहना करता हूं उन्होंने कहा कि भाड़ फाउंडेशन कृषि एवं ग्रामीण विकास की दिशा में सतत प्रयत्नशील है ।फॉर्ड बीज, मछली उत्पादन मशरूम, बकरी पालन के क्षेत्र में महिलाओं को संस्थागत प्रशिक्षण प्रदान किया गया है।खाद्यान्न उत्पादन के साथ – साथ उसके मूल्य वर्धन एवं संरक्षण की जररूत है। इसके लिए किसानों को एकजुट करके जोड़ना जरूरी है ताकि बाजार मिले हार्ड किसान वैज्ञानिक एवं बाजार के मध्य सेतु का काम कर रही है उत्तर प्रदेश को उत्तर प्रदेश बनाना जरूरी है
प्रो० आर. एम. सिंह ने फॉर्ड फाउंडेशन की परियोजना के बारे में बताया डॉ० सिंह ने बताया कि यह परियोजना पूर्वोत्तर प्रदेश के चार जिले वाराणसी, गाज़ीपुर, चंदौली, एवं सोनभद्र जिले में गत दो वर्षों से यह परियोजना संचालित हो रही है।
संस्थान नई दिल्ली के निदेशेक डॉ० ऐ के सिंह ने कहा के फॉर्ड फाउंडेशन कृषि वैज्ञानिकों एवं किसानों के मध्य विकास की दिशा में कार्य कर रही है।भविष्य में भी उन्नत तकनीकी फाउंडेशन के माध्यम से किसानों तथा उन्नत उर्वरक ,बीज तथा प्रौद्योगिकी पहुचाई जाएगी।आचार्य नरेंद्र देव कृषि विश्वविद्यालय अयोध्या के कुलपति डॉ०विजेंद्र सिंह ने कहा की कृषि संस्थाओ एवं विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक किसानों के निरंतर उत्थान के लिए कार्यरत है।इस अवसर पर भारत सरकार के जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा प्रायोजित बायोटेक किसान परियोजना  प्रोसेस स्क्रीनिंग के चेयरमैन डॉ० एच०एस० गुप्ता तथा नामित सदस्य डॉ० नीता खाण्डेकर ने भी अपने विचारों को प्रस्तुत किया।इस मौके पर गाज़ीपुर के मुख्य विकास अधिकारी प्रकाश गुप्ता ने भी अपने विचार रखे। किसान मेले में पूर्वी उत्तर प्रदेश के लगभग 40 कृषक उत्पादक संघठनो(FPO) के निदेशकों सहित हज़ारो किसानों ने हिस्सा लिया।साथ ही इस मेले में लगभग दो दर्जन से अधिक उपक्रमो जिसमे उन्नत उर्वरक, बीज , उपकरण एवं कृषि प्रौद्योगिकी,उद्यान, मत्स्य, पशुपालन, गन्ना, सहकारिता, खादी ग्रामोद्योग,सिचाई, नेडा,राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन,विद्युत, एलडीएम, स्वास्थ्य विभाग के प्रदर्शनी का लोगों द्वारा अवलोकन किया गया।इस अवसर पर 6 प्रगतिशील महिला किसानों तथा 4 पुरूष प्रगतिशील किसानों प्रशस्ति पत्र एवं 10 हज़ार का चेक प्रदान किया गया।
मेले मे किसानों को उन्नत बीज एवं उपकरण भी वितरित किये गए।
प्रो० पंजाब सिंह ने कृषि मंत्री सूर्य प्रताप साही को स्मृति चिंन्ह एवं अंगवस्त्रम भेंट किया।
कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर नीरज सिंह तथा धन्यवाद ज्ञापन प्रोफेसर शिवराज सिंह ने किया। फाउंडेशन के ट्रस्टी डॉ उमेश सिंह तथा डॉक्टर संतोष कुमार सिंह ने माननीय अतिथियों का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया। इस अवसर पर भाजपा जिला अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह,ग्राम प्रधान नीतू सिंह, दयाशंकर पांडेय, अच्छे लाल गुप्ता, अखिलेश सिंह,रूद्र प्रताप सिंह, मीडिया प्रभारी शशिकांत शर्मा, पारसनाथ राय, कार्तिक गुप्ता, हंसराज राजभर, प्रवीण त्रिपाठी, डा मुराहु राजभर, दुर्गेश सिंह,जगदीश सिंह,ओमकार सिंह, यंग प्रोफेशनल तुषार कान्त, आदर्श सिंह के साथ किसान मेले में हजारों महिला एवं पुरुष कृषक एवं लगभग तीन दर्जन किसान उत्पादक संगठन के प्रतिनिधियों व निदेशकों ने हिस्सा लिया।

Back to top button