गाज़ीपुर:विद्युत कर्मियों की चेतावनी, 1 नवम्बर से नहीं होगी मीटर रीडिंग।

विद्युत कर्मियों की चेतावनी, 1 नवम्बर से नहीं होगी मीटर रीडिंग।

मीटर रीडिंग नहीं होने से थम जाएगी बिजली विभाग की बिलिंग।

संविदा पर काम कर रहे पुराने कर्मियों का बकाया भुगतान हो तत्काल।

1 नवम्बर से आने वाली नई मीटर रीडिंग कम्पनी पुराने कर्मियो को अनुचित ढंग से न हटाए।

नई कम्पनी न्यूनतम दरों से कम मानदेय पर अनुचित ढंग से रख रही है नए कर्मी।

नई कम्पनी पुराने लोगों को ही सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम दरों पर करें भुगतान।

गाजीपुर के विद्युत कर्मी आंदोलन पर हैं, कारण है, एन सॉफ्ट
कंपनी जिसके द्वारा प्राइवेट मीटर रीडरों को रख कर मीटर रीडिंग का कार्य किया जाता था उसका अनुबंध 31 अक्टूबर को खत्म हो रहा है और स्टर्लिंग नाम की दूसरी कंपनी 1 नवंबर से कार्य करने के लिए आ रही है, और उसने पुराने लोगों की छटनी शुरू कर दी है, कर्मचारी नेताओं का आरोप है कि कंपनी द्वारा पीछे के दो 2 महीने का वेतन भुगतान कर्मचारियों का बाकी है और वह नहीं मिला है, जबकि सीएम महोदय ने तय समय में ही देने की बात की थी, जिसे तत्काल दिलाए जाने की मांग की जा रही है, और दूसरा गंभीर आरोप लगाते हुए विद्युत मजदूर पंचायत के नेता कहते हैं कि जो पुराने कर्मी काम कर रहे हैं, उन्हीं को यह कंपनी काम दे, क्योंकि कंपनी के अधिकारियों द्वारा 25000₹ से 50000 ₹ अवैध रूप से लेकर पुराने की जगह नए कर्मचारियों को रखा जा रहा है और न्यूनतम से भी कम मजदूरी देने की बात की जा रही है, जो अनुचित है, इस का विरोध हो रहा है, हमारी मांग है कि उन पुराने कर्मियों को रखा जाए जो पहले से काम कर रहे हैं और कम से कम सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम दर को दिया जाए, क्योंकि उससे कम पर कोई भी कर्मचारी नहीं मानेगा और अगर ऐसा नहीं हुआ तो जनपद के एक भी मीटर की रीडिंग कर्मचारी नहीं करेंगे।

Back to top button