मरदह कांड:87 नामजद और 60 अज्ञात पर एक दर्जन से अधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज,21 गिरफ्तार।

गाजीपुर।गुरूवार को मरदह बाजार में रामलीला मंचन के दौरान उपजे विवाद के बाद शनिवार को मरदह थाना में सैकड़ो उपद्रवियों द्वारा पथराव में थानाध्यक्ष वीरेंद्र कुमार सहित 14 पुलिसकर्मियों घायल हो गए थे।पुलिस ने शनिवार की रात उपद्रव और बवाल करने वाले 87 नामजद और 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा-147,148,149,186,323,332,336,342,353,427,504,506 आईपीसी के साथ 7 सीएलए एवं 3/5 लोकसंम्पति छति निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है।शनिवार की रात में सैकड़ो की संख्या में पुलिस बल ने मरदह कस्बे में उपद्रवियों के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया।पुलिस ने सर्च ऑपरेशन में आरोपित चार नामजद और 17 अज्ञात आरोपियों को गिरफ्तार कर रविवार को जेल भेज दिया।हालांकि पुलिस कप्तान रामबदन सिंह ने तत्कालीन थानाध्यक्ष वीरेंद्र कुमार को मरदह से हटाकर विवेचना सेल भेज दिया जबकि मरदह थाना का प्रभार निरीक्षक राजकुमार यादव को दिया है। कस्बे के लोगों ने रात्रि में पुलिस द्वारा दबिज के दौरान महिलाओं सहित दर्जनों लोगों को मारने पीटने का आरोप लगाया है जिसका फ़ोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।रविवार की दोपहर सीओ कासिमाबाद विजय आनंद शाही ने सैकड़ो पुलिसकर्मियों के साथ पूरे कस्बे में फ्लैगमार्च किया और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की।एतिहात के तौर पर थाना में दो गाड़ी पीएससी और कई थानों की फोर्स तैनात थी।घटना के बाद रविवार को मरदह कस्बे में सन्नाटा पसरा रहा।बाजार के लोग सहमे हुए है।

सीओ विजय आंनद शाही ने बताया कि 4 नामजद और 17 अज्ञात को गिरफ्तार किया गया है अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।वीडियो क्लिप से आरोपियों की पहचान की जा रही है।किसी भी सूरत में आरोपियों को बक्सा नही जाएगा।

Back to top button